Latest Posts

Nakoda Bheru - from Shantinath Jinalay, Bhinmal - Rajasthan


सपनों की मंज़िल पास नहीं होती;
ज़िंदगी हर पल उदास नहीं होती;
नाकोड़ा भैरव पे यकीन रखना मेरे भैरव भक्तो;
कभी-कभी वो भी मिल जाता है जिसकी आस नहीं होती


1 comment: